Jhunjhunu Update
झुंझुनू अपडेट - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

हिस्ट्रीशीटर उमेश सांतड़िया के पिता की गोली मारकर हत्या

रूपए के लेन—देन को लेकर हत्या की बात आई सामने, जांच में जुटी पुलिस

सिंघाना। थाना इलाके के हुक्मा की ढाणी के पास मूर्गी फार्म हाउस पर सिंघाना थाने के हिस्ट्रीशीटर उमेश सांतड़िया के पिता 62 वर्षीय वृद्ध हरफूलसिंह की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। जानकारी के अनुसार दिन में करीब 11:45 के लगभग दो मोटरसाइकिलों पर तीन लोग आए आते ही उन्होंने हरफूलसिंह के सिर व गले में दो गोली मार दी। गोली की आवाज सुनने के बाद पड़ौसियों ने सूचना परिजनों को दी। हरफूल का पुत्र अपने पिता को सिंघाना अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। गोली की घटना के बाद एएसपी वीरेंद्र मीणा, बुहाना डीएसपी ज्ञानसिंह, खेतड़ी डीएसपी विजयकुमार, एसएचओ भजनाराम, खेतड़ी एसआई राजेंद्रसिंह, स्पेशल टीम के एएसआई कल्याणसिंह, क्यूआरटी टीम के भीमसिंह सहित आरएसी का जाब्ता मौके पर पहुंचा। एफएसएल की टीम भी पहुंच कर घटनास्थल पर खून के धब्बे व वहां पर पड़े तोलिए से सैंपल लिए गए। मृतक के पुत्र जनेश ने आरोपियों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दी है कि उसके पिता फॉर्म हाउस पर थे। वह खाना लेकर आया तथा मूर्गियों को दूसरी तरफ दाना डालने के लिए चला गया। उसी दौरान फॉर्म हाउस पर खानपुर निवासी वेदप्रकाश व उसका पुत्र राकेश व एक अन्य दो मोटरसाइकिलों पर आए और उसके पिता को गोली मार दी। मृतक के पुत्र ने बताया कि उसके पिता खानपुर के वेदप्रकाश के 4 साल से 14 लाख रुपए मांगता थे। उसकी वजह से कुछ समय से विवाद चल रहा था। उन रुपयों के लेनदेन की वजह से ही उसने उसके पिता को गोली मारी है। डीएसपी ज्ञानसिंह चौधरी ने बताया कि मृतक के दो गोली मारी गई है। पुलिस आरोपी को पकड़ने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है तथा किस लिए गोली मारी कौन-कौन आए थे। इसकी जांच की जा रही है। एएसपी वीरेंद्र मीणा ने बताया आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीमें बना दी गई है। जल्दी आरोपी को पकड़ लिया जाएगा।
पहले गहरी दोस्ती, रूपयों ने हत्या तक की नौबत ला दी
सांतड़िया के हरफूलसिंह की हत्या के आरोपी खानपुर निवासी वेदप्रकाश के बीच गहरी दोस्ती थी। दोनों में पारिवारिक गहरे रिश्ते थे। दोनों आर्मी में भी साथ-साथ नौकरी की। यहां पर भी एक दूसरे के सुख दुख में परस्पर सहयोग करते थे तथा दोनों फॉर्म हाउस पर भी आते जाते थे। लेकिन रुपयों के लेन-देन मे दोस्ती के रिश्ते तार-तार हो गया। 14 लाख रुपयों के लेनदेन को लेकर कुछ समय से विवाद चल रहा था। जो हत्या तक पहुंच गया।
बेटा उमेश है हिस्ट्रीशीटर
मृतक हरफूलसिंह सिंघाना थाने के हिस्ट्रीशीटर उमेश सांतड़िया का पिता है। उमेश 3 जून 2019 में बनवास के संदीप उर्फ बच्चिया की हत्या के आरोप में जयपुर जेल में बंद है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy