Jhunjhunu Update
झुंझुनू अपडेट - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

परिवार की गरीबी व मजबूरी का फायदा उठाकर पार्षद दो साल तक करता रहा युवती का देह शोषण

सूरजगढ़, 18 अप्रेल। 
पार्षद ने अपने पद व पहुंच के रौब के चलते किया गरीबी से खिलवाड़ करता रहा। बटाई पर खेती करने वाले एक गरीब परिवार की इज्जत को तार-तार किया। पिछले दो साल से युवती के साथ देह शोषण किया। पीडि़ता ने मुंह खोलने की कोशिश की तो अपने  पद व पहुंच की धौंस दिखाई। ऐसा ही मामला सामने आया है सूरजगढ़ के वार्ड पांच के मौजूदा पार्षद रणधीरसिंह का। जो पीडि़ता के  परिवार के नजदीकी का फायदा उठाते हुए पिछले दो साल देह शोषण कर रहा था। पीडि़ता का परिवार मोई सद्दा गांव का रहने वाला है। जो पिछले कई सालों से आरोपित के पड़ौस में स्थित एक कुएं पर बंटाई में फसल बुवाई का काम करता है। पड़ौसी होने के नाते एक दूसरे के घर आना जाना रहता था। जिससे पीडि़ता का परिवार उस पर घर के सदस्य की तरह विश्वास करने लगा। इसी विश्वास का फायदा उठाकर उसने पीडि़ता को अपने जाल में फंसा लिया व उसके साथ घिनौनी हरकत करनी शुरू कर दी। पीडि़त परिवार पुलिस प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रहा है।
दो दिन तक रही घर से गायब
पीडि़ता के पिता ने बताया कि मामले का खुलासा होने से पहले मेरी बेटी दो दिन तक घर नहीं आई। पांच अप्रेल शाम को जब वो घर नहीं आई तो मैंने कस्बे में रहने वाली उसकी बुआ व घर पर जानकारी की। लेकिन वहां पर भी नहीं पहुंची तो मेरी चिंता बढ़ गई। मैंने पड़ौसी व वार्ड पार्षद होने के नाते रणधीरसिंह को मामले की जानकारी दी। तो उसने साथ होकर ढूंढने का नाटक किया। सबसे पहले अपने घर पर जाकर चैक किया कि कहीं मेरे घर पर तो छुपकर नहीं बैठी है। रात में गाड़ी लेकर दो चार जगह गए भी, जिसमें रणधीर उनके साथ रहा। दूसरे दिन भी दिनभर खोजबीन करते रहे कहीं से कोई सूचना नहीं मिली। सात अप्रेल को सुबह जब पीडि़ता डरी सहमी अपनी बुआ के घर पहुंची तो परिजनों  के हौंसला बंधाने पर उसने सारी घटना का खुलासा किया व परिजनों के साथ थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने पीडि़ता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर बोर्ड से मेडिकल करवाया व मामले की जांच शुरू की।
पीडि़ता ने बताई आप बीती
जब इस बाबत पीडि़ता से बात की। तो उसने बताया कि रणधीरसिंह का शुरू से ही हमारे घर आना जाना था। जिससे परिवार वाले उस पर बहुत ज्यादा विश्वास करते थे। जिसका फायदा उठाकर उसने मेरी जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया। मंैने जब भी घरवालों को बताने की कोशिश की तो वह कहता कि आपके घरवाले आपकी बात पर विश्वास नहीं करेंगे और मंै आपको गलत साबित कर दूंगा। जिससे समाज में आपकी बेइज्जती होगी मैं डर के रह जाती। दो दिन तक उसने मुझे अपने प्लॉट पर रखा। जहां से वह अपनी गाड़ी से मुझे मेरी बुआ के घर तक छोड़कर आया और किसी के सामने भी मुंह नहीं खोलने की धमकी दी। मैं तंग आ चुकी थी। पहुंचकर मैंने सारी बात मेरी बुआ को बताई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy